Jindagi ka sach shayari in hindi | जिंदगी का सच शायरी हिंदी में.

    जिंदगी का सच शायरी (Jindagi ka sach shayari) इस शायरी ब्लॉग में पढ़े और हमारी जिंदगी की रोजाना जो हम जिंदगी जीते है उसमे न जाने कितने जिंदगी के सच हम जिंदगी की कब्र में ही दफ़न करते है.

   मगर कुछ अश्किया याने शेर हमारे जिंदगी के सच बयां करते है उसे इस लेख में जरूर पुरा पढ़े जो हमारे रियल जिंदगी से निस्बत होती है, जो हमें जिंदगी से कुछ सिखने के लिए कहती है.

हमारे रोज की जिंदगी में बहोत सारे सच होते है जो हम किसी से भी बयां करते नहीं और हमारी दिल की कब्र में दफ़न करते है, इंसान को ऐसा अक्सर नहीं करना चाहिए क्यूंकि दिल में जो बाटे हम दफ़न करते है उससे दिल का बोझ बढ़ता है.

Jindagi ka sach shayari in hindi, जिंदगी का सच शायरी हिंदी में.

jindagi ka sach shayari.

हमारे जिंदगी का सच शायरी यहापर पुरे पढ़े.

💘 मेरी आंखों में जो नमी है,
वजह तुम नहीं, तुम्हारी कमी है.💘💘

Meri ankho me jo nami hai,
wajah tum nahi tumhari kami hai.
---
💘💘सपना मत बनाओ मुझे, सपने सच नहीं होते,
बनाना है तो अपना साया बनाओ, कभी साथ ना छोड़ेंगे तुम्हारा.💘

Sapna mat banao muze sapne sach nahi hote,
banana hai to apna saya banao kabhi sath na chodege tumahara.
---
ये दस्तूर है शहर ये मोहब्बत का ,
जिसे सिद्दत से चाहो वो कभी नहीं मिलता.

Ye dastur hai sahar ye mohabbat ka,
jise siddat se chaho wo kabhi nahi milta.

Jindagi ka sach shayari read in hindi.

jindagi ka sach shayari.

💘जब ज़िन्दगी दर्द दे तो क्या किया जाये,

चलो दर्द को ज़िन्दगी बनाकर जी लिया जाये.💘

Jab jindagi dard de to kay kiya jaye,

chalo dard ko jindagi banakar ji liya jaye.

Jindagi ka sach shayari par video.

-----

💘शिकायतों की पाई - पाई जोडी थी मैंने,

उसने गले से लगा कर सारा हिसाब बराबर कर दिया.💘

Shikayato ki pai pai jodi thi maine,

usne gale se laga kar sara hisab barabar kar diya.

Top Jindagi ka sach shayari in hindi me.

jindagi ka sach shayari.

💘सबको मेरे बाद रखियेगा,
आप मेरे है... ये याद रखियेगा.

Sabko mere bad rakhiyega,

aap mere hai ye yadh rakhiyaga.

 ---

💘💘💘इंसान हँसता तो सबके सामने है
लेकिन रोता सिर्फ उसी के सामने है जिससे वो
खुद से ज्यादा भरोशा और प्यार करता है.

Insan hasta to sabke samne hai,

lekin rota sirf usi ke samne hai jisase wo,

khud se jayda bharosa aur pyar karta hai.

Real sad Jindagi ka sach shayari in hindi me.

jindagi ka sach shayari.

💘छोड़कर तुझको हम तेरी सौत से दोस्ती कर ले,
इतना ना घुमा जिन्दगी की मौत से दोस्ती कर ले.

Chodkar tuzko ham teri saut se dosti kar le,
itna na ghuma jindagi ki mout se dosti kar le.

 ---

💘💘❛तकदीर ने चाहा जैसे ढल गये हम,

बहुत संभल के चले फिर भी फिसल गये हम.

किसी ने विश्वास तोड़ा किसी ने दिल,

और लोगों को लगता है की बदल गये हम.

Takdir ne chaha jaise dhal gaye ham,

bahut sambhal ke chale fir bhi fisal gaye ham,

kisi ne vishwas toda kisi ne dil,

aur logo ko lagata hai ki badal gaye ham.

Hamare Jindagi ka sach shayari in hindi me padhe.

jindagi ka sach shayari.


💘किसी शायर से कभी उसकी उदासी की 
वजह पूछना,

दर्द को इतनी ख़ुशी से सुनाएगा की प्यार हो जायेगा.

Kisi shayar se kabhi uski udhasi ki wajah puchana,

dard ko itni khusi se sunayega ki pyar ho jayega.

 ---

💘न खेल दिल से मेरे न जज़्बातों से

बहुत बुरी तरह टूटा है ये दिल 

अब डर लगता है इश्क़ की बातों से.

Na khel dil se mere na jajbato se,

bahut buri tarah tuta hai ye dil,

aab dar lagata hai ishq ki bato se.

Char din ki Jindagi ka sach shayari in hindi.

jindagi ka sach shayari.


💘❛आज भी चाँद को देखकर

मुझे अक्सर तेरी याद आती है,

ख्वाब में अब भी'तेरा चेहरा और 

आईने में 'तेरी सुरत नजर आती है.

Aaj bhi chand ko dekhkar,

muze aksar teri yad aati hai,

khwab me aab bhi tera chehara aur,

aine me teri surat najar aati hai.
---

💘यह तो सोचा तुमने की तुम्हारे पीछे पड़े थे हम पर,

ये नहीं जाना की खुद से आगे माना हुआ था तुम्हें.

Yah to socha tumane ki tumahare piche pade the ham par,

ye nahi jana ki khud se aage mana hua tha tumhe.

Apno se pareshan Jindagi ka sach shayari in hindi me.

jindagi ka sach shayari.

💘इतना आसान नहीं है जीवन का हर किरदार निभा पाना,💘
💘इंसान को बिखरना पड़ता है रिश्तों को समेटने के लिए.💘

Itna asan nahi hai jivan ka har kirdar nibha pana,
insan ko bikharna padata hai rishto ko sametne ke liye.

 ---

💘💘रात गहरी थी डर भी सकते थे

हम जो कहते थे कर भी सकते थे,

तुम बिछड़े तो ये भी ना सोचा

हम तो पागल थे मर भी सकते थे.

Rat gahari thi dar bhi sakte the,

ham jo kahate the kar bhi sakte the,

tum bichade to ye bhi na socha,

ham to pagal the mar bhi sakte the.

Manav Jindagi ka sach shayari in hindi me padhe.

jindagi ka sach shayari.


💔हाथ छूटे भी तो रिश्ते नहीं छोड़ा करते,
वक़्त की शाख़ से लम्हे नहीं तोड़ा करते.💔

Hath chute bhi to rishte nahi choda karte,
waqt ki shakh se lamhe nahi toda karte.

 ---

💔तू हजार बार रुठेगी फिर भी तुझे मना लूँगा

तुझसे प्यार किया हे कोई गुनाह नही, 

जो तुझसे दूर होकर खुद को सजा दूँगा.

Tu hajar bar ruthegi fir bhi tuze mana lunga,

tuzse pyar kiya hai koi gunah nahi,

jo tuzase dur hokar khud ko saja dunga.

Jindagi ka sach shayari in hindi

jindagi ka sach shayari.


💔💔कहते है की पत्थर दिल रोया नहीं करते,
तो फिर पहाड़ो से ही झरने क्यों बहा करते है.😭💔

Kahate hai ki patthar dil roya nahi karte,
to fir pahado se hi zarne kyun baha karte hai.

 ---

💔वो ज़रा निगाहें तो उठायें...

      कह दूं मैं प्यार का सलाम,

और निगाहें झुकने से पहले ही...

       सारी उम्र लिख दूँ उनके नाम.💔

Wo jara nigahe to uthaye,

kaha du mai pyar ka salam,

aur nighe zukane se pahale hi,

sari umra likh du unke nam.

Jindagi ka sach shayari आपको अच्छी ही लगी होगी हमें तो यही उम्मीद होती है आप अपना कमेंट के जरिये हमें जरूर बताना की,Jindagi ka sach shayari आपको कैसी लगी.

इसको भी पढ़े:-

  1. परेशां जिंदगी शायरी यह क्लिक करे.
  2. जिंदगी सैड शायरी यह क्लिक करे.
  3. उधास जिंदगी शायरी यह क्लिक करे.
  4.  लव तो स्टोरी शायरी यह क्लिक करे.
  5.  हार्ट टचिंग शायरी यह क्लिक करे.
close button